Alt Text

Nrutkarnavali by Roshan Date

  • Rs. 359.00
  • Save Rs. 41


Join as Seller
आचार्य भरतमुनि विरचित नाटयशास्त्र में बताए गए नृत्तकरण नृत्तहस्त एवं चारी आदि प्राचीन क्रियाऍं भारतीय नाटय एवं नृत्य जगत के लिए अमूल्य निधी है नृतकरण समस्य अवयवों के लिए अमूल्य निधी है नृत्तकरण समस्य अवयवों से संपन्न ऐसी संपूर्ण अंगभाषा है जिससे सौदर्यपूर्ण नृत्य का सृजन होता है!

We Also Recommend