Mahanayak Amitabh by Mahesh Sharma

Mahanayak Amitabh by Mahesh Sharma

  • Rs. 144.00
  • Save Rs. 6


Join as Seller
यह उस ‘शहंशाह’, ‘दि ग्रेट गेंबलर’, ‘खुद्दार’, ‘देशप्रेमी’ की ‘महान’ जीवनगाथा है, जो ‘कभी-कभी’ ‘मजबूर’ ‘एकलव्य’ था। लेकिन ‘अग्निपथ’ पर ‘आज का अर्जुन’ बनकर वह ‘नमक हलाल’ ‘गंगा की सौगंध’ लेकर ‘नि:शब्द’ ‘आखिरी रास्ता’ पार करके ‘मुकद्दर का सिकंदर’ बन गया। उसके ‘नसीब’ ने उस ‘अजूबे’, ‘जादूगर’ को कभी ‘डॉन’ बनाकर ‘जंजीर’ में ‘गिरफ्तार’ किया; कभी ‘शराबी’ का ‘जुर्माना’ लगाकर ‘अंधा कानून’ के ‘खाकी’ के हवाले कर दिया। लेकिन ‘कभी खुशी कभी गम’ की ‘दीवार’ उस ‘मर्द’ के ‘जमीर’ की ‘शान’ को ‘ब्लैक’ नहीं कर सकी। उस ‘कालिया’ की कामयाबी का ‘सिलसिला’ ‘सात हिंदुस्तानी’, ‘राम-‘बलराम’, ‘अमर अकबर एंथनी’, ‘गंगा जमुना सरस्वती, ‘बॉम्बे टू गोवा’ तक गाते हैं। ‘आनंद’ ‘खून-पसीना’ नहीं बहाता तो ‘अकेला’ ‘हेरा-फेरी’ करके ‘कुली’ से आगे नहीं बढ़ पाता। लेकिन ‘लावारिस’ ‘रेशमा और शेरा’ को ‘वक्त’ की ‘कसौटी’ पर कसकर वह ‘मंजिल’ तक ले गया और ‘हम’ बोले ‘गॉड तुसी ग्रेट हो’। भारतीय सिनेजगत् के महानायक अमिताभ बच्चन की जीवनगाथा।

We Also Recommend